बिहार में वामपंथी विधायक की गुंडई, बैंक मैनेजर को जड़ा थप्पड़

मैनेजर द्वारा कुर्सी नहीं खाली करने पर भड़के विधायक

30 Jul 2016 |  2225

बिहार. खुद को गरीबों और शोषितों का ठेकेदार बताने वाले वामदलों द्वारा समर्थित नक्सलियों, उनके कार्यकर्तायों और नेताओं की गुंडागर्दी अब आम हो चली है. खासकर जबसे बिहार में महागठबंधन की सरकार बनी है इनलोगों ने कानून को मानो ठेंगा दिखाने की ठान ली है. नये प्रकरण में बलरामपुर के भाकपा माले विधायक महबूब आलम ने गुरुवार की दोपहर इलाहाबाद बैंक की ग्वालटोली शाखा के मैनेजर राकेश रंजन को थप्पड़ जड़ दिया। विधायक अपने समर्थकों के साथ बारसोई प्रखंड के इलाहाबाद बैंक की ग्वालटोली शाखा पहुंचे। शाखा प्रबंधक को कुर्सी की ओर इशारा करते हुए कहा की तुम हटो इसपर मैं बैठूंगा। शाखा प्रबंधक द्वारा ऐसा नहीं करने की बात पर वे भड़क उठे और प्रबंधक को थप्पड़ जड़ दिया। बैंक प्रबंधक ने परिसर में लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर विधायक पर आरोप लगाते हुए एसपी और इलाहाबाद बैंक के भागलपुर मंडल के सहायक महाप्रबंधक से इसकी शिकायत की है। शाखा प्रबंधक व बैंक पदाधिकारी विनोद कुमार सिंह, जितेन्द्र चौधरी, दीपक मल्लिक, परमानंद मल्लिक आदि इस घटना के बाद किसी तरह बैंक से भाग निकले। शाखा प्रबंधक राकेश रंजन ने बताया कि सूचना के दो घंटे बाद आबादपुर थाना पुलिस पहुंची और वहां जमी भीड़ को हटाया। उन्होंने कहा कि बेवजह विधायक ने गाली-गलौज करते हुए थप्पड़ जड़ दिया और जान से मारने की धमकी दी। चूंकि गुरुवार को एसपी पूर्णिया में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में थे इसलिए आज उनसे मिलकर लिखित शिकायत की गयी है। उन्होंने कहा कि जब तक बैंक प्रबंधन व स्थानीय प्रशासन द्वारा कार्रवाई नहीं होगी, वे ग्वालटोली शाखा नहीं जायेंगे। इस मामले में बलरामपुर विधायक महबूब आलम ने कहा कि उनपर लगाया गया आरोप निराधार है। वे किसी ग्रामीण के बैंक संबंधी काम को लेकर ग्वालटोली गए थे जहां बैंक प्रबंधक का रवैया सम्मानजनक नहीं था। थप्पड़ जड़ने की बात बेबुनियाद है

ट्रेंडिंग