दो मंडप, 9 हवन कुंड,121 पुजारी, रामनगरी में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा की जोर शोर‌ तैयारियां शुरू

दो मंडप, 9 हवन कुंड,121 पुजारी, रामनगरी में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा की जोर शोर‌ तैयारियां शुरू

05 Dec 2023 |  33

 

वाराणसी।रामनगरी अयोध्या का नाम सुनते ही लोगों के मन में रामलला के प्रति श्रद्धा के भाव उमड़ पड़ते हैं। 22 जनवरी को रामनगरी में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होगी।प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में यजमान के तौर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शामिल होंगे,लेकिन पूजन 16 जनवरी से ही विधि-विधान से शुरू हो जाएगा। रामलला के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर तैयारियां जोर शोर से शुरू है।प्राण प्रतिष्ठा के लिए 2 मंडप और 9 हवन कुंड बनाए जा रहे हैं।पूरे प्राण प्रतिष्ठा के पूजन का आचार्यत्व आध्यात्मिक नगरी काशी के विद्वान पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित करेंगे।देश के अलग-अलग शाखाओं के 121 ब्राह्मण इस पूजन को संपादित कराएंगे,जिसमें काशी से ही करीब 40 विद्वान शामिल होंगे।

 

रामनगरी अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा में पूरे कर्मकांड का आचार्यत्व करने वाले आध्यात्मिक नगरी काशी के पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित और उनके बेटे अरूण दीक्षित ने बताया कि पूजन से संबंधित यज्ञ कुंड बनना है, जिसमें कुल 9 शामिल कुंड होंगे।हम सभी 1 दिसंबर को अयोध्या में पूजन स्थल पर गए थे।पूजन के लिए मुख्य मंदिर के सामने भूमि निश्चित की गई है।इस भूमि पर 45-45 हाथ के 2 मंडप बनेंगे। उन्होंने बताया कि मंडप बनने की शुरूआत भी हो गई है। कुछ दिनों में 2 मंडप और 9 हवन कुंड भी बन जाएंगे।मंडप और कुंड बनने का काम 10 जनवरी तक खत्म हो जाने की संभावना है।

 

पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित ने बताया कि एक मंडप में गणेश पूजन और राम पूजन से लेकर सभी पूजा-कार्य होंगे।जबकि दूसरे छोटे मंडप में राम जी के विग्रह के सारे संस्कार होंगे, जिसमें 100 कलश से स्नान, अन्नाधिवास और जलाधिवास होगा।पूरे भारत के सभी प्रदेशों से सभी शाखाओं के विद्वान आने वाले हैं।उनको निमंत्रित किया जा रहा है।

 

अरूण दीक्षित ने बताया कि यह तय हुआ है कि पूरे भारत से 121 उच्च कोटी ब्राह्मण पूजन को संपन्न कराएंगे।सभी वेदों के विद्वान शामिल होंगे। 121 ब्राह्मणों में काशी से लगभग 40 विद्वान शामिल होंगे। 16 जनवरी से प्राण प्रतिष्ठा से संबंधित पूजन शुरू हो जाएगा,जिसमें ट्रस्ट की तरफ से निर्धारित व्यक्ति प्रधान यजमान के रूप में रहेगा। उन्होंने बताया कि मुख्य पूजा में 22 जनवरी को होने वाली प्राण प्रतिष्ठा में पीएम मोदी यजमान की भूमिका में रहेंगे। 11 से 12 के बीच में मृगशिरा नक्षत्र में प्राण प्रतिष्ठा संपन्न होगी।

ट्रेंडिंग