अखिलेश यादव ने BSP नेताओं-कार्यकर्ताओं को लताड़ा

कहा कि बसपा ने जिस तरह दयाशंकर के परिवार का अपमान किया, वह और भी दुखद'

25 Jul 2016 |  427

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) तथा भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच जारी वाकयुद्ध पर शनिवार को चुप्पी तोड़ते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया.अपने आधिकारिक आवास में एक कार्यक्रम से इतर अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी नेता दयाशंकर सिंह ने बीएसपी प्रमुख मायावती के खिलाफ जो भी कहा वह आपत्तिजनक था, लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि बीएसपी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने जिस प्रकार दयाशंकर के परिवार का अपमान किया, वह और भी दुखद है. उन्होंने कहा, “यह सबकुछ एक ऐसे शहर में हो रहा है, जो अपनी एक अलग तहजीब के लिए जाना जाता है और राजनीतिज्ञों को आत्मविश्लेषण करना चाहिए कि वे अपने बयान में किस तरह की भाषा का इस्तेमाल करें.”मुख्यमंत्री ने दो बार गठबंधन करने वाले बीजेपी व बीएसपी पर चुटकी लेते हुए कहा कि चूंकि रक्षा बंधन अब नजदीक है, इसलिए दोनों पक्षों को सुलह कर लेनी चाहिए. कई साल पहले मायावती ने बीजेपी नेता लालजी टंडन को राखी बांधी थी, जिसका वह संदर्भ स्वरूप उन्होंने यह बात कही.उन्होंने यह भी कहा कि बीएसपी व बीजेपी नेताओं द्वारा एक दूसरे के खिलाफ दर्ज कराई गई प्राथमिकी के संबंध में कानून अपना काम करेगा.

ट्रेंडिंग